आना पवन कुमार, हमारे कीर्तन में

आना पवन कुमार, हमारे कीर्तन में

आना पवन कुमार हमारे कीर्तन में-2

आप भी आना, राम जी को लाना।

लाना जनक दुलार, हमारे हर कीर्तन में।।

भरत जी को लाना, लक्ष्मण जी को लाना।

लाना सब परिवार, हमारे हर कीर्तन में।।

कृष्ण जी को लाना, राम जी को लाना।

लाना शिव परिवार, हमारे हर कीर्तन में।।

भैरों जी को लाना, विष्णु जी को लाना।

बाजे वीणा के तार, हमारे हर कीर्तन में।।

सुमति को लाना, कुमति को हटाना।

कर दो बेड़ा पार, हमारे हर कीर्तन में।।

‘बजरंग मंडल’ पर कृपा करके।

सुन लो नाथ पुकार, हमारे हर कीर्तन में।।