गणेश वन्दना

गणेश वन्दना

सबसे पहले गौरी पुत्र गणेश मनावा जी,

थारो आसन खाली देख,

मनड़ो ना लागे देवा मत करो बार।। टेर।।

देवों में देव अव्वल थारा दुनिया लेती नाम,

बच्चे, बूढ़े नर और नार,

गणपति गणपति करते पुकार।। 1।। सबसे …

कष्ट विघ्न दुःखहारी कर दारिद्र का नाश,

लम्बोदर गजानन्द गणराज,

लड्डू पतासा भोग करो स्वीकार।। 2।। सबसे …

रि(ि, सि(ि संग में ल्यामा  मत करियो भूल,

कबसे  देखण नैनां तरसै,

रखवाली खातिर ल्याईयो मूषकों की डार।। 3।। सबसे …

सबसे पहले किसको पूजां देव मचाई राड़,

शिवजी प्रश्न किन्हों एक,

ब्रह्माण्ड के चक्कर पहले कुण आवेगा मार।। 4।। सबसे …

इम्तहान में पास हुये तुम पार्वती के लाल,

उस दिन सभी गये थे मान,

देवों ने कान पकड़ के मानी तुझसे हार।। 5।। सबसे …

दास फूलचन्द्र ‘प्रेमी’ करें गुणगान,

चन्द्राणी दे कविता का ज्ञान,

आन सभा में सुणल्यों भक्तों के प्रचार।। 6।। सबसे …