भक्तों के सारे काम हैं

भक्तों के सारे काम हैं

(तर्ज: मेरे अंगने में तुम्हारा …….)

हिन्द राजस्थान में एक सालासर धाम है।

राज करें बाला भक्तों का सारे काम है।।

।। टेर।।

दुख संकट जब आवें, लेते बाला का नाम हो।

शांति छा ज्यावे फिर पीड़ा का क्या काम है।।

राज…….

गुंडे चोर जब आवेेेेेेेेेेेेेेे लेते बाला का नाम है।

पल में सबक सिखादे फिर दुष्टों का क्या काम है।।

राज…….

नार सांझ जब आवे लेते बाला का नाम है।

गोदी पुत्र पावे फिर बांझ का क्या काम है।।

राज…….

भगत गण जब आवे लेते बाला का नाम है।

फूलचन्द अन्द गावे फिर चुप्पी का क्या काम है।।

राज…….