सालासर में पहुँचने तो पाएँ

सालासर में पहुँचने तो पाएँ

सालासर में पहुँचने तो पाएँ, यह न पूछो कि हम क्या करेंगे।

सर झुकाना अगर जुर्म होगा, हम निगाहों से सजदा करेंगे।

हम तो चिलमन से ही देख लेंगे, परदा हमसे अगर वो करेंगे।

आया बनके मैं प्रेम पुजारी, आया बनके मैं दर का भिखारी।

दे दो झोली में इतना दयालु, मांगने की यह आदत छुड़ा दे।

इक नजर से अगर देख लेंगे, जान अपनी न्यौछावर करेंगे।

दर्शन  दें या न दें उनकी मर्जी, सालासर में सेवा करेंगे।

आज मेरा दिल रो रहा है, जो कभी न हुआ हो रहा है।

इक तमन्ना है मरने से पहले, अपना दर्शन तू मुझको करा दे।

हम पे बीतेगी जो हम सहंेंगे, रूका उनकी मगर न करेंगे।

तेरे दर पे आना मेरा काम तो बिगड़ी बनाना तेरा काम है।

छोड़ दी किश्ती तेरे नाम पे, अब किनारे लगाना तेरा काम है।

वो जो दामन छुड़ाएंगे अपना, हम भी चरणों से लिपटे रहेंगे।

सालासर में पहुंचने तो पाएं, यह न पूछो कि हम क्या करेंगे।